शुचि की रसोई में आपका स्वागत है!

19-अप्रैल

स्वादिष्ट घर पर बने ठन्डे-ठन्डे पेय

भारत में पेय / शरबत आमतौर पर मौसम के अनुसार बनाए जाते हैं. जहाँ गर्मी के मौसम में ठंडक पहुचानें वाले पेय, जैसे कि नीबू शिकंजी, ख़स, मट्ठा, लस्सी, छाछ, पना आदि बनाए जाते हैं, वहीं जाड़े में गरम कड़ाही का दूध, चाय, कॉफी आदि बनाए जाते हैं. भारत में पेय पदार्थों का प्रयोग आमतौर पर गर्मी के मौसम में ज़यादा किया जाता है , वैसे भी हमारे देश में साल में आठ महीने तो गर्मी ही होती है. तो चलिए बनाते हैं कुछ स्वादिस्ट और पौष्टिक ठंडक पहुँचाने वाले पेय.

शुभकामनाओं के साथ,
शुचि


  •  turmeric

    हल्दी के फायदे | गुणकारी हल्दी

    हल्दी गुणों का खजाना है. हल्दी को संस्कृत में हरिद्रा कहते हैं. यह अदरक के परिवार जिंजीबेरेसी (Zingiberaceae) की सदस्य है. हल्दी का वानस्पतिक नाम Curcuma longa (कुरकुमा लोंगा) है. ... हल्दी कंद है जिसे बड़ी आसानी से घर पर उगाया जा सकता है. हल्दी का पौधा बहुवार्षिक होता है, यह गर्मी की फसल है लेकिन इसे तेज धूप पसंद नहीं है. हल्दी के पत्ते, तना और कंद सभी का प्रयोग खाने और औषधी बनाने में किया जाता है. नीचे लगी फोटो में हमारे घर पर उगाई गयी हल्दी के पौधे की कुछ अवस्थाएं दिखाई गयी हैं. हम हल्दी के पत्तों, तने और कंद सभी का उपयोग खाने में करते हैं.आगे पढ़ें ..

आटे का हलवा | आटे का शीरा

  • Aate ka Sheera

    आटे का हलवा | आटे का शीरा

    आटे का हलवा एक पारंपरिक उत्तर भारतीय मिठाई जिसे गुजरात और महाराष्ट्र आदि प्रान्तों में आटे का शीरा नाम से भी जाना जाता है. पूजा पाठ के अवसर पर सूजी के हलवे के साथ साथ आटे का हलवा बनाने का भी चलन है. आटे के हलवे को बनाना बहुत आसान होता और यह चटपट बन जाता है. देशी घी में भूना गया आटा बहुत सुगन्धित हो जाता है और हलवा बहुत स्वादिष्ट बनता है..

12-नवम्बर-2018

डायबिटीज के लिए कुछ खास स्वादिष्ट और पौष्टिक व्यंजन | स्वास्थ्यवर्धक खाना मधुमेह के लिए

प्रिय पाठकों,

अक्सर हमारे पाठकगण पूछते हैं कि मधुमेह बीमारी से ग्रसित लोग कैसे अच्छे, स्वादिष्ट और स्वास्थ्यवर्धक व्यंजन बना सकते हैं. हमने मेल के ज़रिए आपको कई बार अलग से भी इसकी जानकारी दी है लेकिन इस बार क्योंकि कई सारी फरमाइश एक साथ आ गयी हैं तो हमने सोचा कि बेहतर होगा अगर विस्तार से इसके बारे में वेबसाइट पर लिखा जाए.

मधुमेह यानि कि डायबिटीज (diabetes) क्या है- जब किसी भी इन्सान के खून में शक्कर की मात्रा निर्धारित मापदंड से ज्यादा हो जाती है तो उसे डायबिटिक यानि कि मधुमेह बीमारी से ग्रसित कहा जाता है. अब सवाल यह है कि यह निर्धारित मात्रा क्या है ?यह मापदंड समय समय पर बदलता रहता है. मैं डॉक्टर नहीं हूँ तो इस विषय में आप अपने डॉक्टर के साथ बात करें. हाँ जब एक बार किसी को मधुमेह हो गया तो क्या करा जाये? जितना मैंने पढ़ा है और अपने परिजनों को इस बीमारी से ग्रसित होने के बाद अनुभव किया है उसके अनुसार मैं यह लेख यहाँ पर लिख रही हूँ. सबसे अच्छा यही है कि मधुमेह को खानपान और नियमित कसरत, योग, ध्यान इत्यादि से ही काबू में रखा जाये तो सबसे अच्छा है. मधुमेह की बीमारी अगर बढ़ जाती है तो यह पूरे शरीर को खोखला करना शुरू कर देती है. मैंने परिवार और दोस्तों में कई लोगों को इस बीमारी को भोगते हुए देखा है. मैं सबको यही सलाह देती हूँ कि खानपान में सुधार कीजिये और नियमित रूप से शारीरिक श्रम कीजिये.

नयी व्यंजन विधियाँ ईमेल पर पाने के लिए क्लिक कीजिये!



Your Valuable Comments !!