इडली

साझा करें
See this recipe in English

इडली दक्षिण भारतीय व्यंजन है जो भारत के साथ ही साथ विदेश में भी बहुत मशहूर है. इडली को आप कभी भी बना सकते हैं; नाश्ते में या फिर खाने में....हमारे घर में इडली सांभर सभी को बहुत पसंद है....इडली को सांभर और चटनी के साथ परोसिए तो यह संपूर्ण भोजन बन जाता है- इसमें दाल, चावल, सब्जियाँ, दही, नारियल सभी कुछ है. तो फिर देर किस बात की आइए बनाएँ इडली सांभर....


idly
 सामग्री
(20-24 इडली के लिए)
  • चावल 1 कप
  • उड़द दाल ½ कप
  • नमक 3/4 छोटा चम्मच
  • तेल इडली स्टैंड को चिकना करने के लिए
परोसने के लिए
विशेष बर्तन

idly stand

  • इस इडली स्टैंड में एक बार में १६ इडली बनाई जा सकती हैं. यह स्टैंड प्रेशर कुकर के लिए है.
  • वैसे बाजार में माइक्रोवेव में इडली बनाने के स्टैंड भी आते हैं.

बनाने की विधि :

  1. चावल को भी बीनकर, धो लें और 2 कप पानी में 6 घंटे के लिए भिगो दें..
  2. उड़द दाल और चने की दाल को बीनकर, धो लें. अब इन्हे 2 कप पानी में 4-5 घंटे के लिए भिगो दें.
  3. उड़द दाल जब अच्छे से भीग जाए तो इसे छान लें और ग्राइंडर में पीस लें. अब इसे एक बड़े काँच के कटोरे में निकल लें.
    अब चावल को भी छान कर ग्राइंडर में पीस लें. चावलों को पीसने में दाल से अधिक समय लगता है क्योंकि चावल के दाने कड़े होते हैं इसलिए आप दाल और चावल को अलग-अलग ही पीसें. चावल को भी दाल वाले बर्तन में निकल लें.
  4. अब इस दाल चावल के मिश्रण को एक दिशा में अच्छे से फेंट लें. अगर घोल अधिक गाढ़ा है तो इसमें थोड़ा सा पानी मिलlकर फेटें.
idly batter
  1. अब इस घोल को खमीर उठाने के लिए रखें. यह मौसम के ऊपर निर्भर करता है की इसमें खमीर उठाने में कितना समय लगेगा. गर्मियों में 12-15 घंटे में अच्छे से खमीर उठ जाता है. लेकिन जाड़े में अधिक समय लगता है. खमीर उठाने के बाद घोल एकदम हल्का हो जाता है.
  2. प्रेशर कुकर में डेढ़ कप पानी उबलने रखें.
  3. इडली के स्टैंड की प्लेटों में ज़रा सा तेल लगाकर तली चिकनी कीजिए जिससे कि इडली चिपके नहीं.
  4. खमीर उठे घोल में नमक मिलाएँ. अब इडली स्टैंड के हर साँचे में लगभग 1 बड़ा चम्मच घोल डालिए. ध्यान रहे कि घोल तीन चौथाई से ज़्यादा ना भरें जिससे की इडली के फूलने की जगह रहे.
idly stand
  1. इडली के स्टैंड को प्रेशर कुकर में रखें. कुकर का ढक्कन बंद करें और सीटी को हटा दें. भाप में इडली को 12-14 मिनट पकाएँ.
  2. अब आँच को बंद कर दें और इडली स्टैंड को बाहर निकाल लें. 2 मिनट के लिए स्टैंड को ऐसे ही रखा रहने दें. चम्मच की मदद से इडली को स्टैंड से निकाल लें.
  3. ऊपर लिखी विधि से बाकी बचे घोल की भी इडली बना लें.

स्वादिष्ट और पौष्टिक इडली तैयार है सर्व करने के लिए. सांभर और नारियल की चटनी के साथ सर्व करें इन मुलायम इडली को.

कुछ नुस्खे और सुझाव

अगर आप चाहें तो आप किसी भगोने/ सौस पैन आदि में भी इडली को भाप पर पका सकते हैं. ढक्कन धकते समय यह ध्यान रखें कि इससे एक्सट्रा भाप बाहर निकलने का रास्ता ज़रूर हो.

अगर आप इडली/ डोस के घोल में जल्दी खमीर उठना चाहते हैं तो उड़द दाल के साथ आधा छोटा चम्मच मेथी दाना भी भिगो दें, और दाल के साथ पीस पर खमीर उठाने रखें. ऐसा करने पर खमीर बहुत जल्दी उठ जाता है.

मेरे दक्षिण भारतीय दोस्त इडली/ डोसे के घोल को पीसने के लिए एक खास प्रकार के स्टील ग्राइंडर का इस्तेमाल करते हैं जिसमें अंदर पत्थर लगा होता है . इसमें दाल और चावल को पीसने में अधिक समय लगता है और पाइस्ट समय यह घोल गरम और बहुत हल्का हो जाता है जिससे इडली और भी हल्की बनती हैं.

बच्चों के लंच बॉक्स के लिए:

भुनी इडली बच्चों के लंच बॉक्स के लिए बहुत अच्छी रहती हैं. इडली को आप थोड़ी सी राई और करी पत्ते के साथ ज़रा से तेल में भून लीजिए. अगर आपके पास समय है तो नारियल की चटनी भी बना दीजिए. बस बच्चों को तो और कुछ चाहिए ही नही रोजाना लंच बॉक्स के लिए इडली की ही फरमाइश करेंगे... इसके साथ में आप बच्चे की पसंद का कोई फल और थोड़ा सा मीठा भी रख सकते हैं.

idli for lunch boxes

बच्चों के लंच बॉक्स के लिए कुछ और आइडिया

कुछ और दक्षिण भारतीय व्यंजन