कांजी के बड़े

साझा करें
See this recipe in English

कांजी के बड़े उत्तर भारत में होली के अवसर पर बनने वाला बहुत ही लोकप्रिय व्यंजन है. फागुनी मौसम में रंगों की बाहर के साथ यह यह चटपटे कांजी में डाले हुए बड़े बहुत स्वादिष्ट लगते हैं. कांजी क्या है? पिसी राई, हल्दी और नमक को पानी में मिलाया जाता है और फिर इसे ढ़ककर 2-3 दिन अलग रखा जाता है. पानी मौसम के हिसाब से 2-3 दिन में खट्टा हो जाता है. आयुर्वेद में कांजी को सर्वोत्तम पेय बताया गया है.

यह सादा कांजी बनाने की विधि है इसके साथ ही सब्जियों की कांजी भी बनाई जाती है और होली के अवसर पर विशेष रूप से कांजी के बड़े. राई को चढ़ने में थोड़ा समय लगता है तो बेहतर होगा की आप मूँग दाल के बड़े कांजी में होली के तीन दिन पहले ही बना लें. तो फिर देर किस बात की - बनाइए कांजी के बड़े और लिखना ना भूलें अपनी राय. होली की आप सबको हार्दिक शुभकामनायें! शुचि

kanji ke vada

सामग्री 20-22 बड़ोके लिए

  • मूँग दाल ¾ कप
  • तेल तलने के लिए  

सामग्री बड़ों को भिगोने के लिए

  • पानी 4-5कप
  • नमक 1 छोटा चम्मच

सामग्री कांजी के लिए

  • पिसी लाल मिर्च ½ बड़ा चम्मच
  • पिसी राई 2½ बड़ा चम्मच
  • हल्दी ½ बड़ा चम्मच
  • नमक 1½ बड़ा चम्मच
  • हींग ¼ छोटा चम्मच
  • पानी 8 कप (2 लीटर)

बनाने की विधि :

  1. मूँग दाल को बीनकर, धो लें. अब इन्हे 3 कप पानी में 4-5 घंटे के लिए भिगो दें.
  2. जब दाल अच्छे से भीग जाए तो इसको ग्राइंडर में पीस लें.
soaked moong dalभीगी हुई मूँग दाल
 lentil paste after grinding पिसी दाल
  1. पिसी दाल को अच्छे से फेट लें. दाल फिटने के बाद काफ़ी हल्की हो जाती है.
  2. अब एक कड़ाही में तेल गरम करें, जब तेल गरम हो जाए तो इसमें लगभग 1 बड़ा चम्मच दाल का पेस्ट डालें, बड़े बनाने के लिए. इसी तरह 7-8 बड़े एक बार में डालें कड़ाही में और मध्यम आँच पर सुनहरा होने तक तलें. इस प्रक्रिया में तकरीबन 7-8 मिनट का समय लगता है.
vadas just after pouring in the oilतेल में डालने के बाद बड़े
 vadas almost doneबड़े लगभग तैयार हैं
  1. बड़ों को किचन पेपर पर तेल निकालने के लिए रखें .
  2. इसी प्रकार पूरे दाल के पेस्ट के बड़े बना लें.
  3. अब एक बर्तन में गरम पानी लें. इसमें 1 छोटा चम्मच नमक डालें और अच्छे से मिलाएँ. अब इसमें तले हुए बड़े डालें. बड़ों को अच्छे से पानी में भीगने दें.
  4. जब बड़े पानी में अच्छे से भीग जाएँ तो हल्के हाथ से दबा कर पानी निकल दें. ध्यान रखें कि कस कर दबाने से बड़े फूट सकते हैं.
vadas soaked in the saline waterनमकीन पानी में भीगे बड़े
 vada after squeesing off the water बड़े पानी से निकालने के बाद
  1. इस प्रक्रिया में बड़ों का सारा तेल पानी में चला जाता है और बड़े एकदम हल्के हो जाते हैं ( चिकनाई रहित).

कांजी बनाने की विधि

  1. एक कटोरे में हल्दी, लाल मिर्च, पीसी राई, हींग, और नमक लीजिए. अब इसमें तकरीबन ½ कप पानी डालिए और मसालों को अच्छे से मिलाइए.
ingredients for kanjiकांजी बनाने की सामग्री
 spices paste पानी में भीगे मसाले
  1. अब इस मसाले के पेस्ट को लगभग 7½ कप पानी में डालिए और खूब अच्छे से मिलाइए.
  2. अब पहले से पानी में भिगो कर निकाले बड़ों को इस मसालेदार राई के पानी में डालिए. हल्के हाथों से बड़ों को पानी में मिलाइए. ध्यान रहे कि बड़े टूटे नहीं. अब इसको ढककर गरम स्थान पर रखें.
  3. राई का पानी चढ़ने (खट्टा होने में) में 2-4 दिन लगते हैं. यह मौसम पर निर्भर करता है कि कांजी कितना समय लेगी खट्टा होने में.
spice water for vadasराई को पानी / कांजी
vadas soaked in spice waterराई को पानी / कांजी में भीगे बड़े

कांजी के बड़ों को होली के सुहाने मौसम में अपने मेहमानों को परोसिए.

kanji vada

कुछ नुस्खे/ सुझाव

  1. राई का पानी चढ़ने (खट्टा होने में) में 2-4 दिन लगते हैं. यह मौसम पर निर्भर करता है कि कांजी कितना समय लेगी खट्टा होने में. एक बार जब राई का पानी (कांजी) खट्टा हो जाए तो इसे फ्रिज में रख दें. आप इसको फ्रिज में 4-5 दिन तक रख सकते हैं.
  2. मुलायम बड़े पानी (कांजी) में ऊपर तैरते रहेंगें. आप हल्के हाथों से बड़ों को दिन में दो बार चला ज़रूर दें.
  3. मुलायम बड़े बनाने के लिए यह ज़रूरी है कि आप दाल को पीसने के बाद अच्छे से फेट लें.

कुछ और स्वादिष्ट चटपटी चाट