Share
Read this recipe in English

अदरक की चाय

चाय भारतवर्ष में बनने वाले सभी गरम पेय में सबसे ज़्यादा प्रसिद है. वैसे तो भारत में पेय मौसम के अनुरूप होते हैं जैसे गर्मी के मौसम में ठंडा ठंडा आम का पना, नीबू की शिकंजी, मट्ठा, इत्यादि और जाड़े के मौसम में कड़ाई में पका दूध...लेकिन चाय तो सदाबहार है और इसे मौसम की सीमा में नही बाँधा जा सकता है. हमारे परिवार में तो चाय बारहों मास दिन में कम से कम दो बार जरूर बनती है. एक अदरक की चाय सारे दिन की थकान उतर देती है. चाय की पहचान तो अब विदेशों में भी चाय के नाम से ही होती है. यहाँ अमेरिका में भी चाय चाय के नाम से ही जानी है हालाँकि उस चाय को पीकर तृप्ति नहीं होती है.. यहाँ हम आपको उत्तर भारतीय तरीके से अदरक की चाय बनाना बता रहे हैं. आप भी बनाएँ इस सर्वाधिक लोकप्रिय अदरक की चाय को और कृपया हमें अपनी राय जरूर लिखें. शुचि

ginger chai

सामग्री

(4 कप चायं के लिए)
  • पानी 3 कप
  • घिसी अदरक 2 छोटा चम्मच
  • शक्कर 4 छोटे चम्मच
  • हरी इलायची 2-3
  • चाय की पत्ती 3 छोटे चम्मच / 4 चाय के बैग (tea bags)
  • दूध 1 ½ कप

बनाने की विधि:

  1. हरी इलायची को छिलके सहित कूट कर अलग रखें.
  2. एक बर्तन/ भगोने में पानी, घिसी अदरक और शक्कर को उबालें.
  3. लगभग 2-4 मिनट अदरक को पानी में अच्छे से उबालने के बाद इसमें 4 चाय के बैग डालें. आंच को धीमी कर के 30 सेकंड्स इंतजार करें.
  4. अब दूध और कूटी इलायची डालकर एक और उबाल लें.
  5. अब आंच को बंद कर दें और चाय को छलनी से चार कप में छान लें.
  6. आंच को बंद कर दें और चाय को छान लें. गरम चाय अब तैयार है . आप चाय का आनंद वैसे ही उठायें या फिर इसे कुकीज या फिर पकौड़े के साथ सर्व करें यह चाय हमेशा ही ताजगी ला देती है.
  7. चाय को आप कभी भी सर्व कर सकते हैं. सुबह सुबह, नाश्ते के साथ, खाने के बाद या फिर शाम को. चाय का कोई समय नही होता है, जब चाहें तब बनाएँ और पिए और पिलाएँ गरमागरम चाय.

कुछ नुस्खे और सुझाव:

  1. You can also add spme other flavors of teas. Add cloves to make clove tea/ laung wali chai, add cinnamom to make cinnamom flavor tea aor add a little bit of mix spices to make masala chai.
  2. You can also make this chai without sugar.
  3. Chai should be served immediately after making it.
ilayachi chai

कुछ और देसी पेय: