मठरी

साझा करें
See this recipe in English

मठरी उत्तर-भारतीय व्यंजन है. यह तल कर बनाई जाती हैं, और इन्हें कई दिनों तक रखा जा सकता है. मठरी नीबू के अचार के साथ बहुत स्वादिष्ट लगती है. इन्हें आप चाट के साथ भी परोस सकते हैं, और सुबह चाय के साथ भी. बच्चों को भी मठरी बहुत पसंद आती है.

mathri

सामग्री

(26 मठरी के लिए)
  • मैदा 1 कप
  • सूजी ½ कप
  • गेहूँ का आटा ½ कप
  • नमक 1 छोटा चम्मच
  • अजवाइन 1 छोटा चम्मच
  • तेल /घी 4 बड़े चम्मच
  • तेल तलने के लिए
  • पानी लगभग ¾ आटा कप गूथने के लिए
मठरी नीबू के अचार के साथ

बनाने की विधि

  1. मैदा, गेहूँ का आटा, सूजी, तेल, नमक, और अजवाइन को एक बर्तन में लें. इन सब सामग्री को आपस में अच्छे से मिलाइए और फिर दोनों हथेली से अच्छे से मलिये.
mathri
  1. अब थोड़ा-थोड़ा पानी डालते हुए कड़ा आटा गूँथ लें. अब इस गुथे आटे को गीले कपड़े से ढककर 10-15 मिनट के लिए रख दें.
mathri
  1. अब गूँथे आटे को 26 बराबर हिस्से में बाँटे और तेल/ घी की मदद से लोई को चिकना करें.
  2. अब तेल/ घी की मदद से 2 इंच की पापडी बेलें.
mathri
  1. अब एक काटें की मदद से इन बिली हुई मठरी को दोनों तरफ से गोद लें, जैसा कि नीचे फोटो में दिखाया गया है.
mathri
  1. एक कड़ाही में मध्यम से धीमी आँच पर तेल गरम करिए . अब इसमें कुछ (कड़ाही के साइज़ के अनुसार) मठरी डालिए.
mathri
  1. अब मध्यम से धीमी आँच पर मठरी के गुलाबी होने तक तलिए. इस प्रक्रिया में तकरीबन 12-15 मिनट का समय लगता है.
mathri
  1. तली मठरी को किचन पेपर पर निकाल लें और ठंडा होने दें.
  2. इसी प्रकार से बाकी सभी बिली मठरियों को तल लें.

इन तली हुई मठरियों को ऐयर टाइट डब्बे में रखें. आप इन्हे कभी भी चाय के साथ परोसिए यह बहुत स्वादिष्ट लगती हैं. वैसे मठरी पर अगर नीबू का अचार लगा कर परोसें तो यह और स्वादिष्ट लगती हैं. आप चाहें तो इन मठरियों को पपड़ी चाट में पापडी़ के जैसे भी इस्तेमाल कर सकते हैं.

कुछ और नाश्ते